मंगलवार, 2 जून 2009

बेरौनक मिली अधजली पगली!! -- शब्द चित्र


शादी की रात से पहले
गली
खुश थी इतनी कि
संज-संवर कर
गली-गली घूमने
निकल पड़ी गली
-------------
शादी की रात के बाद
सड़ांध भरी गली
मुख्य सड़क से पनाह मांगती
बेरौनक मिली
अधजली
पगली

3 comments:

SWAPN ने कहा…

sunder rachna.

vandana ने कहा…

bahut badhiya rachna

M VERMA ने कहा…

Thanks for comments

Template by:

Free Blog Templates