शनिवार, 7 अप्रैल 2012

तीन स्थितियां तीन शब्द चित्र

image

धूप में

भूखा-प्यासा

जलता रहा सूरज

फिर भी

पूरे दिन

चलता रहा सूरज

.

तुम्हारी चुप्पी के

उस कथन को

सुनता रहा मैं.

सुन न पाया

तदुपरांत जो कुछ

कहती रही तुम.

.

कार्यालय के

पिछली गेट से निकल गए

पार्टी प्रवर्तक

मुख्य द्वार पर

ठगे से खड़े रह गए

सम अर्थक

5 comments:

अरूण साथी ने कहा…

जय हो...

प्रतिभा सक्सेना ने कहा…

विसंगतियों की सुन्दर व्यंजना !

संगीता स्वरुप ( गीत ) ने कहा…

बहुत सुंदर ...चुप्पी के कथन को सुनना ...गहन भाव

Smart Indian - स्मार्ट इंडियन ने कहा…

तीनों ही अर्थपूर्ण!

Kailash Sharma ने कहा…

गहन अर्थ समाये लाज़वाब शब्द चित्र...

Template by:

Free Blog Templates